किन्नर या हिजड़े किसके लिए रखते हैं करवाचौथ का व्रत?

किन्नर या हिजड़े किसके लिए रखते हैं करवाचौथ का व्रत?

क्या आप जानते हैं किन्नर समाज का ये सच ? इनके भी होते हैं कई रीति-रिवाज

क्या आप जानते हैं किन्नर समाज का ये सच ? इनके भी होते हैं कई रीति-रिवाज

 किन्नर गुरु के नाम का सिंदूर लगाते हैं इसके साथ ही उनके लिए करवाचौथ का व्रत भी रखते हैं। 

 किन्नर गुरु के नाम का सिंदूर लगाते हैं इसके साथ ही उनके लिए करवाचौथ का व्रत भी रखते हैं। 

 जन्मजात किन्नर मन से स्त्री होते हैं। किन्नरों की छाती नहीं बढ़ती है और यूट्रस नहीं होता है। 

 जन्मजात किन्नर मन से स्त्री होते हैं। किन्नरों की छाती नहीं बढ़ती है और यूट्रस नहीं होता है। 

किसी घराने में जब नया किन्नर शामिल होता है तो उसका जश्न मनाया जाता है। 

किसी घराने में जब नया किन्नर शामिल होता है तो उसका जश्न मनाया जाता है। 

घराने में शामिल होते वक्त जो पुरुष शरीर के किन्नर होते हैं शुद्धिकरण किया जाता है।

घराने में शामिल होते वक्त जो पुरुष शरीर के किन्नर होते हैं शुद्धिकरण किया जाता है।

इन्हें अपनी कमाई का एक हिस्सा गद्दी या घराने को देना होता है।

इन्हें अपनी कमाई का एक हिस्सा गद्दी या घराने को देना होता है।

एक घराने ने अपने यहां निकाल दिया तो दूसरा घराना अपने यहां नहीं रख सकता है।

किन्नरों को भाषा, नाच-गाना ताली और ढोलक बजाने की तालीम दी जाती है।

किन्नरों को भाषा, नाच-गाना ताली और ढोलक बजाने की तालीम दी जाती है।