राखी बेड या सोफे पर नही बल्कि जमीन पर आसन बिछा कर बांधनी चाहिए

राखी बेड या सोफे पर नही बल्कि जमीन पर आसन बिछा कर बांधनी चाहिए

भाई का मुख पर्व दिशा की ओर होना चाहिए

भाई का मुख पर्व दिशा की ओर होना चाहिए

बहन का मुख पश्चिम दिशा की ओर होना चाहिए

भाई बहन दोनो को अपना सिर किसी साफ कपड़े से ढकना चाहिए

भाई बहन दोनो को अपना सिर किसी साफ कपड़े से ढकना चाहिए

फिर भाई के माथे पर रोली या चंदन का तिलक करना चाहिए

फिर भाई के माथे पर रोली या चंदन का तिलक करना चाहिए

अब चावल माथे पर रोली के ऊपर लगाए

अब चावल माथे पर रोली के ऊपर लगाए

भाई के सीधे हाथ मे राखी बांधे

भाई के सीधे हाथ मे राखी बांधे

घी के दीए से भाई की आरती करें

घी के दीए से भाई की आरती करें