Toilet Flush Button: अक्सर आपने टॉयलेट का इस्तेमाल करते हुए ध्यान दिया होगा की उसके फ्लश में दो बटन होते हैं एक बड़ा और एक छोटा। लेकिन आपने कभी सोचा ऐसा क्यों होता है और इसका क्या काम होता है। अब ज्यादातर घरों में लोग वेस्टर्न टॉयलेट का इस्तेमाल करते हैं, या कहीं शॉपिंग मॉल, सिनेमा हॉल, हॉस्पिटल, होटल आदि के वॉशरूम में भी वेस्टर्न टॉयलेट का इस्तेमाल किया जाता है। इसके फ्लश में गोल सा बटन होता है जो दो हिस्सों में बंटा रहता है। एक छोटा बटन और एक बड़ा बटन। आज हम आपको बताते हैं दोनों बटन का काम क्या है।

दरअसल, ड्यूल फ्लश का इस्तेमाल पानी बचाने के लिए किया जाता है। पहले सिंगल फ्लश की वजह से टॉयलेट में काफी सारा पानी फ्लश कर दिया जाता था। जिसके बाद ये ड्यूल फ्लश का कान्सेप्ट आया। अब ड्यूल फ्लश के जरिए पानी काफी हद तक बच जाता हैं

मॉर्डन टॉयलेट फिटिंग में फ्लश के दो तरह के बटन होते हैं ये दोनों बटन एक एक्जिट वॉल्व से जुड़े होते हैं। छोटे बटन को दबाने से 3 से 4.5 लीटर पानी निकलता है जबकि बड़े बटन को दबाने से 6 लीटर पानी निकलता है। रिपोर्ट्स की माने तो सिंगल फ्लश के बजाए ड्युल फ्लशिंग का उपयोग किया जाए तो एक साल में करीब 20 हजार लीटर पानी की बचत की जा सकती है।