Shani Mahadasha: कर्मों के आधार पर न्याय करने वाले शनि महाराज के प्रकोप से अच्छे-अच्छों की हालत खराब हो जाती है। अगर किसी की कुंडली में शनि कमजोर है तो व्यक्ति को कई तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ता है। वहीं शनि महाराज किसी से प्रसन्न हो जाए तो उसपर कृपा बरसती है लेकिन शनि की टेढ़ी नजर से व्यक्ति कई सालों तक झेल जाता है। आज हम आपको बताने जा रहे है शनि की महादशा के बारे में जो 19 वर्षों तक चलती है। शनि के दुष्परिणामों से बचने के लिए ये ये उपाय करना चाहिए।

कुंडली में शनि की खराब दशा से कोई भी व्यक्ति परेशानियों से घिर सकता है। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, शनि के सूर्य के साथ होने पर को धनहानी होती है। किसी की साढ़े सती शुरू होते ही व्यक्ति को रुपयों-पैसे की दिक्कतें झेलनी पड़ती है।

उपाय:-

-शनि की साढ़ेसाती दूर करने के लिए व्यक्ति को शनिवार के दिन पीपल के पेड़ के नीच सरसों के तेल का चौमुखी दीया जलाना चाहिए। दीया जलाने के बाद पेड़ की तीन बार परिक्रमा करनी चाहिए।

-उसके बाद शनिदेव के तांत्रिक मंत्र का कम से कम 108 बार जाप करना चाहिए।

-इसके अलावा किसी जरूरतमंद व्यक्ति को सिक्कों का दान करने से भी शनि देव प्रसन्न होते हैं।