Saving Account Tips: भारतीय बैंकों में सेविंग अकाउंट खोलना आसान भी है और उसपर कोई लिमिट भी नहीं है। कोई व्यक्ति अपनी सुविधा के अनुसार कितने भी बचत खाते आराम से खोल सकता है। हालांकि बैंक सलाहकार 3 से ज्यादा खाता न खोलने की सलाह देते हैं। यहां तक की आप अपने सेविंग अकाउंट में कितने भी पैसे रख सकते हैं यानी अकाउंट में पैसे रखने की कोई लिमिट भी नहीं लगाई गई है।

यहाँ आपको बता दें, जीरो बैलेंस खाते के अलावा बाकी सभी सेविंग अकाउंट में मिनिमम बैलेंस रखना अनिवार्य होता है। बैंक से जो राशि तय की हो उससे कम पैसे अकाउंट में होने पर बैंक शुल्‍क लेता है। सेविंग अकाउंट में जमा धनराशि पर जो इन्टरेस्ट बनता है उसपर खाता धारक को टैक्स देना होता है। लेकिन अगर ब्‍याज 10000 रुपये से कम बना होगा तो टैक्‍स नहीं देना पड़ेगा।

ऐसे ही अगर खाताधारक की उम्र 60 साल से ज्यादा है तो उन्हे 50 हजार रुपये तक के ब्‍याज पर टैक्‍स नहीं देना होता है। वहीं अगर आपकी साल भर की कुल आमदनी और ब्याज मिलकर भी इतनी नहीं होती कि उस पर टैक्स देनदारी बन पाये तो फिर ऐसे में फॉर्म 15 G जमा करके बैंक द्वारा काटे गए टीडीएस का रिफंड ले सकते हैं।