Pitru Paksha 2022: इन दिनों पितृपक्ष चल रहे हैं और ऐसे में पूर्वजों की आत्मा को शांति देने के लिए तर्पण और श्राद्ध किया जाता है। लेकिन बहुत से लोगों के दिमाग में कुछ सवाल होते हैं, जिसका उत्तर जानना भी जरूरी है। ‌जिस घर में कई बेटे-बेटियां होते हैं ले इस कश्मकश में फंसे रहते हैं कि आखिर किस बच्चे के द्वारा श्राद्ध, तर्पण और अंतिम क्रिया किया जाना अच्छा होता है।

बताया जाता है कि माता पिता की अंतिम क्रिया के लिए बड़े बेटे या छोटे बेटे को ही अंतिम क्रिया करना चाहिए। यह फलदाई होता है। श्राद्ध कोई भी बच्चा कर सकता है लेकिन अंतिम क्रिया इन्हीं दोनों में से कोई एक को करना चाहिए। ‌

मघा श्राद्ध

पित्र पक्ष में कई तिथियां होती हैं जिसमें से मघा श्राद्ध भी एक माना जाता है। ‌ हिंदू पंचांग के मुताबिक त्रयोदशी तिथि के दिन जो श्राद्ध किया जाता है उसे मघा श्राद्ध के नाम से जाना जाता है विशाल को करने वालों को वंश से जुड़ी समस्याओं का समाधान होता है और धन मैं भी वृद्धि होती है।