Pitru Paksha 2022: हिन्दू धर्म में पितृ पक्ष को बेहद महत्वपूर्ण माना जाता है 15 दिनों तक चलने वाले पितृ पक्ष 10 सितंबर से शुरू हो गए हैं जो 25 सितंबर तक चलेंगे। मान्यता के अनुसार, इस दौरान पितर धरती पर आते हैं ऐसे में पूर्वजों का सत्कार करना चाहिए उन्हे नाराज नहीं करना चाहिए। श्राद्ध पक्ष में तर्पण, पिंडदान, पूजा पाठ किया जाता है। इस समय में कौवे को खाना खिलाने का विशेष महत्व हैं। जानिए इसके पीछे क्या है खास वजह।

श्राद्ध पक्ष में ब्राह्मणों को भोज कराया जाता है साथ ही कौवों को निवाला देना जरूरी माना जाता है। ऐसी मान्यता है कौवों पूर्वज के रूप में धरती पर आते हैं। घर के आँगन, बालकनी या किसी भी हिस्से में कौवे का बैठना और दिया हुआ भोजन करना शुभ माना जाता है। यह संकेत है की पूर्वज आपसे प्रसन्न हैं और आपको आशीर्वाद दे रहे हैं।

इसके अलावा श्राद्ध पक्ष में कौवे को रोज भोजन करवाना चाहिए। ऐसा करने से पूर्वजों का आशीर्वाद मिलता है साथ ही बिगड़े काम बनने लगते हैं। वैसे इस समय में किसी भी पक्षियों की सेवा करनी चाहिए। अगर कौवा नजर न आए तो कुत्ते या गाय को भी भोजन करा सकते हैं।