Parenting Tips: अपने बच्चों को सबसे बेहतर बनाने के चक्कर में कई पैरेंट्स का व्यवहार अजीबो-गरीब हो जाता है। बच्चों के साथ किया गया व्यवहार ही तय करता है आगे भविष्य में वो क्या बनेंगे और क्या करेंगें। माता-पिता का हद से ज्यादा कंट्रोलिंग बिहेवीयर उनके फ्यूचर को खराब सकता है। कंट्रोलिंग बिहेवीयर की वजह से जहां बच्चों के मन में धीरे-धीरे माँ-बाप के लिए आक्रामकता आने लगती है वही माँ-बाप भी आगे चलकर नहीं समझ पाते के बिगड़ेलपने को कैसे ठीक किया जाए।

बहुत से पैरेंट्स बच्चों को प्यार कम करके, उनकी भावनाओं को नजरअंदाज करके, इमोशनल ब्लैकमेल करके उनपर काबू पाना चाहते हैं। वहीं कुछ पैरेंट्स बच्चों को हद से ज्यादा सपोर्ट करके, उनकी हर चीज में इनवॉल्व होकर उन्हे कंट्रोल करते हैं। दरअसल, कई पैरेंट्स अपने ईगो की वजह से या अपने अकेलेपन के डर को लेकर, या जिस तरह से उन्हे पाला गया उन तरीकों को लेकर बच्चों पर कंट्रोल करना चाहते हैं।

वहीं कई बार पैरेंट्स बच्चों पर चीजें इस लिए भी थोपते हैं की वो चाहते हैं बच्चा उनके तरीके से जिए। या फिर बच्चों को लेकर कई पैरेंट्स ओवर प्रोटेक्टिव होते हैं और वो नहीं चाहते की बच्चा लाइफ में कहीं फेल हो या गलती करे। लेकिन पैरेंट्स को यह समझना चाहिए उनका ऐसा व्यवहार बच्चे के फ्यूचर को खराब कर सकता है। इसलिए बच्चों को खुद सीखने दें और आगे बढ़ने दें।