Chandra Grahan 2022: आज हम इस लेख के माध्यम से बताने जा रहे है कि ग्रहण के बाद खाने पीने की चीजो का क्या करना चाहिए। हमारे भारतीय समाज मे तुलसी के पौधे का बहुत धार्मिक महत्व है। तुलसा जी का प्रयोग करके हम ग्रहण के कई दुष्प्रभावो से बच सकते है। तुलसा जी मे नकारात्मक ऊर्जा को खत्म करने की ताकत होती है। तुलसा जी वैसे भी एक औषधीय पौधा है जो सेहत के लिए वरदान है।  तुलसा जी पर किसी भी तरह की बुरी किरणो का कोई असर नही होता है।

सूतक से पहले ही खाने की चीजे जैसे आचार, मुरब्बा, दूध, दही आदि मे तुलसा पत्ती डाल देनी चाहिए। तुलसा जी के इन्ही गुणो के कारण शास्त्रो ने ही नही बल्कि वैज्ञानिको ने भी मत सहमती दी है।

सूतक से पहले ही दूध आदि खाने पीने की चीजो मे तुलसा जी का पत्ता डाल देना चाहिए ताकि ग्रहण की नकारात्मक ऊर्जा का दूध या उन चीजो पर कोई असर ना हो और ग्रहण के बाद उन चीजो को इस्तेमाल करा जा सके। ग्रहण के समय सादे पानी की जगह नारियल पानी पीना चाहिए। यदि नारियल पानी पीना संभव नही तो सादे पानी मे अदरक का रस ड़ाल कर उसे पीना चाहिए।