Navgrah dosh in Hindi: ज्योतिष शास्त्र में नवग्रहों को विशेष महत्व दिया गया है। इसलिए किसी भी व्यक्ति की कुंडली में सबसे पहले ग्रहों की स्थिति को देखा जाता है। नवग्रहों में सूर्य, चंद्रमा, मंगल, बुध, गुरु, शुक्र, शनि और राहु- केतु का साथ ही मनुष्य के शरीर पर भी गहरा असर पड़ता है।

किसी व्यक्ति की ग्रहों की स्थिति शुभ है तो उसे करियर और जीवन में जल्दी सफलता मिलती है। वहीं जिन लोगों की कुंडली में ग्रहों की दशा विपरीत होती है। उन्हें अपने जीवन में हमेशा अड़चनों का सामना करना पड़ता है। सूर्य की दशा खराब होने पर तुला राशि को अशुभ फल मिलता है।

वही चंद्रमा अशुभ होने पर व्यक्ति का मन हमेशा विचलित रहता है। उसके अलावा मंगल अशुभ होने पर गले आंखों और ब्लड से जुड़ी समस्याएं हो सकती हैं।