Tulsi Upay: कार्तिक का महीना शुरू हो गया है और ऐसे में भगवान विष्णु 4 महीने की गहरी निद्रा से उठते हैं। इसके बाद वह माता तुलसी के साथ शादी करते हैं। इस बार कार्तिक मास 10 अक्टूबर से प्रारंभ होकर 8 नवंबर तक समाप्त होगा। इस पवित्र महीने के लिए बताया जाता है कि इसमें गंगा, यमुना जैसी पवित्र नदियों के जल से स्नान करने के बाद तुलसी पूजा करने पर शुभ फल मिलते हैं। इस स्नान को कार्तिक स्नान नाम से जाना जाता है।

बताया जाता है कि इस मास में मां लक्ष्मी पृथ्वी पर घूमने आती हैं और भक्तों के घर धन से भर देती हैं। महीने दिवाली भी बनाई जाती है जिसमें मां लक्ष्मी की विशेष पूजा होती है। इस महीने तुलसी जी को स्नान करने के बाद जल चढ़ाना चाहिए और एक खास तरह के मंत्र का जाप करना आपके लिए सुख समृद्धि दिला सकता है।

‘महाप्रसाद जननी, सर्व सौभाग्यवर्धिनी।।
आधि व्याधि हरा नित्यं, तुलसी त्वं नमोस्तुते।।

इसके अलावा शाम के समय तुलसी कोट में घी से दीपक को जलाने से मां लक्ष्मी खुश होती हैं। इस महीने में बृहस्पतिवार के दिन तुलसी के पौधे में कच्चे दूध को पानी में मिलाकर चढ़ाना उचित माना जाता है। अगर आपके घर में तुलसी का पौधा है तो तुलसी विवाह करने से घर में धन-धान्य और सुख समृद्धि आती है।