International Sex Workers Day: आज यानी 2 जून को पूरी दुनिया में इंटरनेशनल सेक्स वर्कर्स डे मनाया जा रहा। ऐसे में आज हम एक सेक्स वर्कर की दर्दनाक कहानी लेकर आए हैं। कोई भी लड़की अपनी मर्जी से ये पेशा नहीं चुनती। एडन नाम की लड़की जब इस पेशे में आई तो उसकी उम्र काफी कम थी उसकी सौतेली माँ सेक्स वर्कर थी और बचपन में ही उसके पिता और सौतेले भाई ने उसके साथ दुष्कर्म किया था।

इतना ही नहीं एडन ने बताया की उसके भाई के साथ उसको पॉर्न फिल्में देखने का दवाब डाला जाता था। उसके बाद एडन को इस धंधे में उतरने के लिए मजबूर किया गया। एडन 35 साल की उम्र में एच आई वी पॉजिटिव हो गई। वहीं एक अन्य सियोमी नाम की वर्कर ने बताया की उसके पार्टनर ने पैसे की लालच में उसको कोठे पर बेच दिया था तब उसकी उम्र 19-20 साल थी।

सियोमी ने आगे बताया की वह बहुत गरीब परिवार से है और अपने माता-पिता को हर महीने 17 हजार रुपये भेजती है। इस धंधे में उसको अक्सर गाली और मार खानी पड़ती है। सियोमी का एक 5 साल का बेटा भी है जिसे वो पढ़ा-लिखाकर डॉक्टर बनाना चाहती है।