Chanakya Niti: महान अर्थशास्‍त्री, कूटनीतिज्ञ और व्‍यवहारिक बातों के मार्गदर्शक आचार्य चाणक्‍य ने अपने नीति शास्‍त्र में जीवन के हर पहलुओं को लेकर कुछ बातें बताई हैं। वैवाहिक जीवन को लेकर भी चाणक्‍य ने कुछ नियम बयाए हैं जिनको अपनाकर पति-पत्नी के बीच होने वाली तकरार से बचा जा सकता है। पति-पत्नी को अपना रिश्ता खुशहाल बनाने के लिए कुछ जरूरी बातों पर ध्यान देना चाहिए।

-वैवाहिक संबंध में तकरार होने की एक वजह क्रोध का होना भी है। हर छोटी-बड़ी बात पर क्रोध करने से संबंध बिगड़ने लगते हैं। दोनों में से अगर कोई भी एक क्रोधी स्वभाव का है तो संबंध में कभी खुशहाली नहीं रहेगी। ऐसे में क्रोध को त्यागकर अपने रिश्ते को प्राथमिकता देनी चाहिए।

-आचार्य चाणक्‍य के अनुसार पति-पत्नी को आपस की गोपनीयता का भी ध्यान देना चाहिए। दोनों के बीच की बातें किसी तीसरे तक नहीं जानी चाहिए। जो पति-पत्नी गोपनीयता का सम्मान करते हैं वो हमेशा खुश रहते हैं।

-पति-पत्नी का रिश्ता जितना नाजुक होता होता है उतना ही मजबूत भी। ऐसे में कई बार विपरीत परिस्थितियों का सामना करना पड़ता है। जिसको फेस करने के लिए धैर्य होना बेहद जरूरी है। आपस में धैर्य रखकर खराब से खराब हालात से बाहर निकला जा सकता है।

-चाणक्‍य कहते हैं दाम्पत्य जीवन में एक दूसरे का सम्मान करना बेहद जरूरी है। साथ ही पति-पत्नी को अपनी मर्यादा का पालन करना चाहिए।