भारतीय शास्त्रो मे हमारे रोज मर्रा की जिंदगी को लेकर भी बहुत सारी मान्यताएं और परम्पराएं है। इन्ही परम्पराओ मे से एक है बाल काटने की परम्परा। हमारे शास्त्रो मे बताया गया है कि हमे कब बाल काटने चाहिए और कब नही काटने चाहिए। यदि हम परम्पराओ के हिसाब से बाल काटते है तो सब मंगल होता है। ऐसा ना करने पर हमे कई तरह की परेशानियो का सामना करना पड़ सकता है।

बाल किस दिन काटने चाहिए— हमारे शास्त्रो मे बुधवार और शुक्रवार को बाल काटना शुभ माना जाता है। इस दिन बाल काटना ही नही धोना भी शुभ माना जाता है। ऐसा कहा जाता है कि इन दिनो बाल काटने या धोने से धन आता है। कारोबार मे तरक्की होती है। सब कुछ अच्छा होता है।

बाल किस दिन नही काटने चाहिए- सोमवार, मंगलवार, वीरवार और शनिवार और रविवार को बाल नही काटने चाहिए। सोमवार को बाल काटन से भगवान शिव रूष्ट हो जाते है। मंगलवार को तो सभी बाल काटने वालो की दुकान तक बंद होती है। इस दिनो बाल काटने से मान सम्मान मे कमी आती है, धम का हानि होती है, बुद्धि भ्रष्ट होती है और जल्दी मृत्यु भी हो सकती है।