Vidur Niti: महाभारत काल के महान दार्शनिक और महत्वपूर्ण पात्र महात्मा विदुर जो एक दासी पुत्र थे। उन्होंने विदुर नीति में कुछ ऐसे नियमों का वर्णन किया है, जो हमारे जीवन को आसान ही नहीं बनाते हैं बल्कि कई समस्याओं से भी बचाते हैं। विदुर नीति में बताए गए नियम आज भी समाज में व्यापक रूप से अपनाएं जाते हैं। महात्मा विदुर ने व्यक्ति के आचरण को लेकर कुछ बातें बताई हैं। उन्होंने ऐसे लोगों से सावधान रहने के लिए जो सामने वाले का मुंह देखकर बात करते हैं।

विदुर नीति कहती है कि व्यक्ति को ऐसे लोगों से सतर्क रहना चाहिए जो सामने वाले के मन के हिसाब से बात करते हैं। जो लोग किसी का मुंह देखकर बात करते हैं उनके ऊपर कभी भरोसा नहीं करना चाहिए। ऐसे लोग भरोसेमंद नहीं होते और जो कोई भी ऐसे लोगों के ऊपर भरोसा करता हैं उसे भविष्य में नुकसान उठाना पड़ता है।

विदुर का मानना है कि जो व्यक्ति किसी बात को अलग-अलग लोगों से अलग अलग तरह से पेश करता है उनका चरित्र बेहद संदिग्ध होता है। इन लोगों की वजह से संबंधों में शंका की स्तिथि पैदा हो जाती है। इन लोगों की बात को बिना पुष्ट किए नहीं मानना चाहिए। ये लोग सामने वाले की नजरों में अच्छा बनने के लिए ऐसा करते हैं लेकिन इनको निंदा झेलनी पड़ती है।